ShayariWayari

Best and Latest Shayari Collection

Zindagi Shayari | Zindagi Pe Shayari ( जिंदगी पर शायरी )

zindagi shayari 2 lines


जब रूह किसी बोझ से थक जाती है,
एहसास की लौ और भी बढ़ जाती है,
मैं बढ़ता हूँ ज़िन्दगी की तरफ लेकिन,
ज़ंजीर सी पाँव में छनक जाती है।

आया ही था खयाल कि आँखें छलक पड़ीं
आँसू किसी की याद के कितने करीब हैं
Aaya Hi Tha Khayaal Ki Aankhen Chhalak Padeen
Aansoo Kisei Ki Yaad Ke Kitane Kareeb Hain

तुम सचमुच जुड़े हो गर मेरी जिंदगी के साथ,
तो कुबूल करो मुझको मेरी हर कमी के साथ !!

Zindagi JisKa Badaa Naam Suna Hai Hum Ne,
Ek Kamjor Si Hichki Ke Siwa Kuchh Bhi Nahi.
ज़िन्दगी जिसका बड़ा नाम सुना है हमने,
एक कमजोर सी हिचकी के सिवा कुछ भी नहीं।

कुछ लोग चप्पल जैसे होते है,
साथ तो देते है पर पीछे से कीचड़ उछालते रहते है…..!!
Kuch log chappal jaise hote hai,
Sath to dete hai par piche se kichad uchhalte rahte hai…..!!

zindagi shayari sad


कल न हम होंगे न कोई गिला होगा,
सिर्फ सिमटी हुई यादों का सिललिसा होगा,
जो लम्हे हैं चलो हँसकर बिता लें,
जाने कल जिंदगी का क्या फैसला होगा।

सिर्फ सांसे चलते रहने को ही ज़िन्दगी नही कहते
आँखों में कुछ ख़वाब और दिल में उम्मीदे होना जरूरी है
Sirf Saanse Chalate Rahane Ko Hee Zindagi Nahi Kahate
Aankhon Mein Kuchh Khavaab Aur Dil Mein Ummeede Hona Jaroori Hai

Rone Se Kisi Ko Paya Nahi Jata,
Khone Se Kisi Ko Bhulaya Nahi Jata,
Waqt Sabko Milta Hai Zindagi Badalane Ke Liye,
Par Zindagi Nahi Milti Waqt Badalne Ke Liye!

Ek Umar Gustakhiyon Ke Liye Bhi Naseeb Ho,
Yeh Zindagi Toh Bas Adab Mein Gujar Gayi.
एक उम्र गुस्ताखियों के लिये भी नसीब हो,
ये ज़िंदगी तो बस अदब में ही गुजर गई।

ज़िन्दगी इतनी अच्छी होती तो,
इस दुनिया में हम रोते हुए नहीं आते,
मगर ये ज़िन्दगी इतनी ही बुरी होती ,
तो जाते जाते लोगो को रुलाकर न जाते…..!!
Zindagi itni achchi hoti to,
Is duniya mein hum rote hue nahi aate,
Magar ye zindagi itni hi buri hoti,
To jate jate logo ko rulakar bhi nahi jate…..!!

zindagi shayari in hindi font


मौत से कैसा डर… मिनटों का खेल है,
आफत तो जिंदगी है बरसों चला करती है।

मुझे ज़िन्दगी का इतना तजुर्बा तो नही
पर सुना है सादगी में लोग जीने नही देते
Mujhe Zindagi Ka Itana Tajurba To Nahi
Par Suna Hai Saadagi Mein Log Jeene Nahi Dete

हाथ पकड़ कर रोक लेते अगर,
तुझ पर ज़रा भी ज़ोर होता मेरा,
ना रोते हम यूँ तेरे लिये..
अगर हमारी ज़िन्दगी में तेरे सिवा कोई ओर होता.
Haath pakad kar rok lete agar,
Tujh par zara bhee zor hota mera,
Na rote hum yoon tere liye,
Agar hamari zindagi mein tere siva koee or hota.

Jo Teri Chaah Mein Gujri Wahi Zindagi Thi Bas,
Uske Baad Toh Bas Zindagi Ne Gujara Hai Mujhe.
जो तेरी चाह में गुजरी वही जिंदगी थी बस,
उसके बाद तो बस ज़िन्दगी ने गुजारा है मुझे।

मेरी जिन्दगी भी उस कब्रिस्तान कि तरह है,
जहा लोग तो बहुत है,मगर कोई अपना नहीं….!!
Meri zindagi bhi us kabristan ki tarah hai,
Jahan log to bahut hai,magar koi apna nahi….!!

zindagi shayari


तुझसे कोई शिकायत नहीं है ऐ जिदंगी
जो भी दिया है वही बहुत है।

ज़िन्दगी में ऐसे लोग भी होते है
जिन्हें हम प् नही सकते सिर्फ चाह सकते है
Zindagi Mein Aise Log Bhi Hote Hai
Jinhen Ham Pa Nahi Sakate Sirf Chaah Sakate Hai

ज़िन्दगी में सबसे ज्यादा दुःख
दिल टूटने पर नहीं,
विश्वास टूटने पर होता है
क्यूंकि हम किसी पर
विश्वास करके ही
दिल लगते हैं.

Akele Hi Gujar Jaati Hai Tanha Zindagi,
Log Tasaliyan Toh Dete Hai Saath Nahi Dete.
अकेले ही गुजर जाती है तन्हा जिंदगी,
लोग तसल्लियाँ तो देते हैं साथ नहीं देते।

किसी कहने वाले ने भी क्या खूब कहा है कि,
मेरी ज़िन्दगी इतनी प्यारी नहीं की मैं मौत से डरूं…!!
Kisi kahne wale ne kya khub kha hai ki,
Meri zindagi itni pyar nahi ki mai maut se daru….!!

zindagi shayari in english


चूम लेता हूँ हर मुश्किल को अपना मान कर मैं,
क्यूँकि ज़िन्दगी कैसी भी है… है तो मेरी ही।

ज़िन्दगी कभी आसन नही होती इसे आसान करना पड़ता है
कुछ नजर अंदाज करके कुछ को बर्दास्त करके
Zindagi Kabhi Aasan Nahi Hoti Ise Aasaan Karana Padata Hai
Kuchh Najar Andaaj Karake Kuchh Ko Bardaast Karake

Koi khusiyo ki chah main roya,
Koi dukhon ki panah main roya,
Ajeeb silsila hai ye zindagi ka,
Koi bharose ke liye roya,
Toh koi bharosa karke roya.
कोई खुशियों की चाह में रोया,
कोई दुखों की पनाह में रोया,
अजीब सिलसिला है ये ज़िन्दगी का,
कोई भरोसे के लिए रोया,
तोह कोई भरोसा करके रोया.

Pahchaanu Kaise Tujh Ko Meri Zindagi Bataa,
Gujri Hai Tu Kareeb Se Lekin Naqaab Mein.
पहचानूं कैसे तुझ को मेरी ज़िन्दगी बता,
गुजरी है तू करीब से लेकिन नकाब में।

ज़िन्दगी की राहो में मुस्कुराते रहो हमेशा ,
क्यूंकि उदाश दिलो को हमदर्द तो मिलते है पर हमसफ़र नहीं…..!!
Zindagi ki raaho mein muskurate raho hamesha,
Kyunki udaash dilo ko hamdard to milte hai par hamsafar nahi…..!!

yeh zindagi hindi shayari


कभी धूप दे… कभी बदलियाँ,
दिलो जान से दोनों क़बूल हैं,
मगर उस नगर में न कैद कर,
जहाँ जिंदगी की हवा न हो।

एक साँस सबके हिस्से से हर पल घट जाती है,
कोई जी लेता है जिंदगी किसी की कट जाती है।

मत सोच इतना ज़िन्दगी के बारे में
जिसने ज़िन्दगी दी है उसने भी कुछ तो सोचा होगा
Mat Soch Itana Zindagi Ke Baare Mein
Jisane Zindagi Dee Hai Usane Bhi Kuchh To Socha Hoga

Apni Zindagi Me Bhi Likhe Hai Kuch Aese Kisse
Kisi Ne Apna Bna Kar Waqt Gujaar Liya
Kisi Ne Waqt Gujarne Ke Liae Apna Bna Liya

Roj Roj Tufan Nahi Aate,
Har Roj Haseen Lamhe Nahi Aate,
Ji Lo Ye Zindagi Jab Hum Sath Hai,
KyonKi Har Janam Mai Hamare Jaise Sath Nahi Aate

Yaadein aati hain yaadein jati hain,
Kabhi kushiyan toh kabhi gham lati hai,
Shikwa na karna kabhi kyuki aaj jo zindagi hai.
Wahi to kal ki yaadein keh lati hain.

Har Baat Maani Hai Teri Sar Jhuka Kar Ai Zindagi,
Hisaab Barabar Kar Tu Bhi Toh Kuchh Shartein Maan Meri.
हर बात मानी है तेरी सिर झुका कर ऐ जिंदगी,
हिसाब बराबर कर तू भी तो कुछ शर्तें मान मेरी।

Ab Samajh Leta Hun Meethhe Lafzon Ki Kaduwahat,
Ho Gaya Hai Zindagi Ka Tajurba Thoda Thoda.
अब समझ लेता हूँ मीठे लफ़्ज़ों की कड़वाहट,
हो गया है ज़िन्दगी का तजुर्बा थोड़ा थोड़ा।

जब तक हम ये जान पाते है ज़िन्दगी क्या है,
तब तक ये आधी ख़तम हो जाती है…..!!
Jab tak hum ye jaan pate hai zindagi kya hai,
Tab tak ye aadhi khatam ho jati hai…..!!

बहुत ही आसान हैं जमीन पर आलिशान माकन बना लेना,
दिल में जगह बनाने में ज़िन्दगी गुजर जाया करती हैं…..!!
Bahut hi aasan hai jameen par aalishan makan bana lena,
Dil mein jagah banane mein zindagi gujar jaya karti hain….!!

zindagi shayari urdu


लोग डूबते हैं तो समंदर को दोष देते हैं,
मंजिल न मिले तो मुकद्दर को दोष देते हैं,
खुद तो संभल कर चल नहीं सकते,
जब ठेस लगती है तो पत्थर को दोष देते हैं।

शुक्रिया ज़िन्दगी…जीने का हुनर सिखा दिया,
कैसे बदलते हैं लोग चंद कागज़ के टुकड़ो ने बता दिया,
अपने परायों की पहचान को आसान बना दिया,
शुक्रिया ऐ ज़िन्दगी जीने का हुनर सिखा दिया।

आराम से जिंदगी जीना चाहते हो तो अपने दिल से लालच निकल दो.
Aaraam Se Jindagi Jeena Chaahate Ho To Apane Dil Se Laalach Nikal Do.

Kitabon ke panne palat ke sochte hain,
Yun palat jaye zindagi to kya baat hai,
Tamanna jo puri ho khwabon mai,
Haqikat ban jaye to kya baat hai,
Kuch log matlab ke liye dhundte hai mujhe,
Bin matlab koi aye to kya baat hai,
Katal karke to sab le jayenge dil mera,
Koi baaton se le jaye to kya baat hai.

Mat Kar Gam Itna Tu Dil Tode Jane ka,
Ki Khuda Hisab Rakhta Hai Har Bure Or Sayane ka,
Ki Maut Aani Hogi Tab Ayegi,
Uthale Maza Zindagi Ke Paimane ka.

Kitna Aur Badalu Khud Ko Zindagi Jeene Ke Liye,
Ai Zindagi Mujhko Thoda Sa Mujhmein Baki Rehne De.
कितना और बदलूं खुद को जिंदगी जीने के लिए,
ऐ जिंदगी, मुझको थोड़ा सा मुझमें बाकी रहने दे।

Najariya Badal Ke Dekh Har Taraf Najraane Milenge,
Ai Zindagi Yehan Teri Takleefon Ke Bhi Deewane Milenge.
नजरिया बदल के देख, हर तरफ नजराने मिलेंगे,
ऐ ज़िन्दगी यहाँ तेरी तकलीफों के भी दीवाने मिलेंगे।

ज़िन्दगी में कभी अपने हुनर पर घमंड मत करना,
क्योंकि जब पत्थर पानी में गिरता हैं तो,
अपने ही वजन से डूब जाता हैं……!!
Zindagi mein kabhi apne huner par ghamand mat karna,
Kyonki jab paththar pani me girta hai to ,
Apne hi vajan se dub jata hai…..!!

zindagi shayari


बारिश में रख दूँ जिंदगी को
ताकि धुल जाए पन्नो की स्याही,
ज़िन्दगी फिर से लिखने का
मन करता है कभी-कभी।

जिंदगी में ये हुनर भी आजमाना चाहिए,
अपनों से हो जंग तो हार जाना चाहिए।

मेरी ज़िन्दगी तुम बन गई, मुझे जीना सिखा दिया तुमने
Meri Zindagi Tum Ban Gaye, Mujhe Jeena Sikha Diya Tumane

ज़िन्दगी एक सफ़र है लेकिन मंजिल नहीं
Zindagi Ek Safar Hai Lekin Manjil Nahin

जिंदगी एक ताश की तरह है,
जब तक आप के हाथ में बादशाह होता.
तब तक आप जिंदगी की हर मुकाम को हासिल कर सकते हो,
लेकिन जिस दिन आप के हाथ से बादशाह निकल जायेगा,
उस दिन से आप जिंदगी की कोई भी मंजिल हासिल नही कर सकते .!!!
इसलिए कभी भी अपने हाथ से बादशाह नहीं जाने दे. !!!!

Kaato Mai Rehkar Bhi Zindagi Jee Lete Hain,
Har Jakhmo Ko Apne Hathon Se Si Lete Hain,
Jis Hath Ko Keh Diya Dosti Ka Hath,
Us Hath Se Jehar Bhi Pi Lete Hain.

Mujhe Zindagi Ka Itna Tajurba Toh Nahin Hai Dosto,
Par Log Kahte Hain Yehan Saadgi Se KatTi Nahi.
मुझे जिंदगी का इतना तजुर्बा तो नहीं है दोस्तों,
पर लोग कहते हैं यहाँ सादगी से कटती नहीं।

Le De Ke Apne Paas Faqat Ek Najar Toh Hai,
Kyun Dekhein Zindagi Ko Kisi Ki Najar Se Hum.
ले दे के अपने पास फ़क़त एक नजर तो है,
क्यूँ देखें ज़िन्दगी को किसी की नजर से हम।

zindagi sad shayari


चेहरे की हँसी से गम को भुला दो,
कम बोलो पर सब कुछ बता दो,
खुद ना रूठो पर सबको हँसा दो,
यही राज है ज़िन्दगी का…
जियो और जीना सिखा दो।

जो मिला कोई न कोई सबक दे गया, अपनी ज़िन्दगी में हर कोई गुरु निकला

Zindagi itni aasan nahi hoti,
Isey aasan banana padta hai,
Kuch Nazar-Andaz karke,
Kuch bardasht karke.

Zindagi Tu Koi Dariya Hai Ke Sagar Hai Koi,
Mujhko Maloom To Ho Kaun Se Paani Mein Hun Main.
ज़िन्दगी तू कोई दरिया है कि सागर है कोई,
मुझको मालूम तो हो कौन से पानी में हूँ मैं।

अजीब तरह से गुजर गयी मेरी जिंदगी,
सोचा कुछ, किया कुछ, हुआ कुछ, मिला कुछ।

जी रहे हैं लोग ज़िन्दगी लेकिन, कोई जिंदा नज़र नहीं आता.

Zindagi ke safar ki manzil hai maut,
Milti hai zindagi toh aati hai maut,
Hasna hai zindagi toh rona hai maut,
Chalna hai zindagi to rukna hai maut,
Har aashiq ki zindagi ki manzil hai maut.

Log Muntzir Hi Rahe Ke Humein Toota Hua Dekhein,
Aur Hum The Ke Sahte Sahte Patthar Ke Ho Gaye.
लोग मुन्तज़िर ही रहे कि हमें टूटा हुआ देखें,
और हम थे कि सहते-सहते पत्थर के हो गए।

शम्मा परवाने को जलना सिखाती है,
शाम सूरज को ढलना सिखाती है,
क्यों कोसते हो पत्थरों को जबकि…
ठोकरें ही इंसान को चलना सिखाती हैं।

ज़िन्दगी कबकी खामूश हो गयी, दिल तो बस आदतन धड़कता है.

Oos ki boondein hain aankh mai nami hain,
Na uper aasman hai na niche zameen hai,
Ye kaisa mod hai zindagi ka,
Jo log khaas hain unhi ki kami hai.

Shaam Tak Subah Ki Najron Se Utar Jaate Hain,
Itne Samjhoton Pe Jeete Hain Ke Mar Jaate Hain.
शाम तक सुबह की नजरों से उतर जाते हैं,
इतने समझौतों पे जीते हैं कि मर जाते हैं।

zindagi shayari 2 lines


जिन्दगी लत है,
हर लम्हे से बेपनाह मोहब्बत है,
मुश्किल और सुकून की कशमकश में,
जिंदगी यूं ही जिये जाता हूँ…

तुझमे छिपे हैं मेरी ज़िन्दगी के हजारों राज, तुझे वास्ता ज़िन्दगी का ज़रा खुद का ख्याल रख.

Is Zindagi Se Sabhi Ko Mohabbat Hai,
Par Zindagi Kisi Ki Mohabbat Nahi Banti,
Tamanna Le Kar Jite Hai Yahan Sab Log,
Par Har Tamanna Taqdir Nahi Banti.

Manzile Mujhe Chhod Gayi Raston Ne Sambhal Liya
Zindgi Teri Jarurat Nahi Mujhe Haadson Ne Paal Liya.
मंजिलें मुझे छोड़ गयी रास्तों ने संभाल लिया,
जिंदगी तेरी जरूरत नहीं मुझे हादसों ने पाल लिया।

ज़िंदादिली है जिन्दगी…
ज़िंदादिली होती है जिन्दगी,
इश्क मे घुली होती है जिन्दगी,
तुमसे मिलने कि चाहत रखती है जिन्दगी,
लेकिन तक़दीर नही मिलने देती है जिन्दगी.

होना कया है, ज़िन्दगी को भुगत रहा हूँ ज़िन्दगी के बिन

Zindagi tujhse har kadam par samjhota kyun kiya jaye,
Shauk jeene ka hai magar itna bhi nahi ki, Mar-mar ke jiya jaye.
Jab jalebi ki tarah ulajh hi rahi hai tu Aey zindagi,
Toh fir kyun na tujhe chaashni mai dubokar maza hi le liya jaye.

Kabhi Khole Toh Kabhi Zulf Ko Bikhraye Hai,
Zindgi Shaam Hai Aur Shaam Dhali Jaye Hai.
कभी खोले तो कभी ज़ुल्फ़ को बिखराए है,
ज़िंदगी शाम है और शाम ढली जाए है।

इतनी ठोकरे देने के लिए शुक्रिया ए ज़िन्दगी,
चलने का न सही सम्भलने का हुनर तो आ गया।

ज़िन्दगी हसीन है , ज़िन्दगी से प्यार करो
हो रात तो सुबह का इंतज़ार करो
वो पल भी आएगा, जिस पल का इंतज़ार हैं आपको
बस रब पर भरोसा और वक़्त पे ऐतबार करो

Zindagi guzar jaye par pyar kam na ho,
Yaad humein rakhna chahe paas hum na ho,
Qayamat tak chalta rahe yeh pyar ka safar,
Dua karo rab se kabhi yeh rishta khatam na ho.

Kuchh Aise Haadse Bhi Hote Hain Zindgi Mein Ai Dost,
Insaan Bach Toh Jata Hai Magar Zinda Nahi Rehta.
कुछ ऐसे हादसे भी होते हैं ज़िंदगी में ऐ दोस्त,
इंसान बच तो जाता है मगर ज़िंदा नहीं रहता।

zindagi shayari in hindi


धूप और छाँव कि पतली लकीर पर खड़ा हूँ,
दोनों पार यादें हैं सपने हैं उम्मीदें हैं
और है बहता हुआ वक्त भी…।

तु कितनी भी खुबसुरत क्यूँ ना हो एे ज़िंदगी.. खुशमिजाज़ दोस्तों के बगैर अच्छी नहीं लगती..!!

Rashme ulfat ko nibhaye to nibhaye kaise,
Har taraf aag hai daaman ko bachaye kaise,
Bojh hota jo gamo ka to utha bhi lete,
Zindagi bojh bani to fir uthaye kaise.

Jab Bhi Suljhana Chaha Zindgi Ke Sawalon Ko Maine,
Har EK Sawal Mein Zindgi Meri Ulajhti Chali Gayi.
जब भी सुलझाना चाहा जिंदगी के सवालों को मैंने,
हर एक सवाल में जिंदगी मेरी उलझती चली गई।

जिंदगी भी तवायफ की तरह होती है,
कभी मज़बूरी में नाचती है कभी मशहूरी में ।

जिन्द्गी के कुछ और पैमाने तय करो
बस जी लेना ही ज़िन्दगी नहीं

Ruthi jo zindagi to mana lenge hum,
Mile jo gam to seh lenge hum,
Bus aap rehna sath hamare,
Aasuo mai bhi muskura lenge hum !!

Thodi Masti Thoda Sa Imaan Bacha Paya Hun,
Yeh Kya Kam Hai Main Apni Pahchaan Bacha Paya Hun,
Kuchh Ummidein, Kuchh Sapne, Kuchh Mahekti Yaadein,
Jeene Ka Main Itna Hi Saaman Bacha Paya Hun.
थोड़ी मस्ती थोड़ा सा ईमान बचा पाया हूँ,
ये क्या कम है मैं अपनी पहचान बचा पाया हूँ,
कुछ उम्मीदें, कुछ सपने, कुछ महकती यादें,
जीने का मैं इतना ही सामान बचा पाया हूँ।

यह ज़िन्दगी बस सिर्फ पल दो पल है,
जिसमें न तो आज और न ही कल है,
जी लो इस ज़िंदगी का हर पल इस तरह,
जैसे बस यही ज़िन्दगी का सबसे हसीं पल है।

कैसे कह दूँ कि अब थक गया हूँ मैं
न जाने घर में कितनों का हौसला हूँ मैं

Yuhi Aankhon Se Aansu Behte Nahi,
Kisi Aur Ko Hum Apna Kehte Nahi,
Ek Tum Hi Ho Jo Ruk Se Gaye Ho Zindagi Mein,
Warna Rukne Ke Liye Hum Kisi Ko Kehte Nahi.

Kuchh Iss Tarah Faqeer Ne Zindgi Ki Misaal Di,
Mutthi Mein Dhool Li Aur Hawaa Mein Uchhal Di.
कुछ इस तरह फ़कीर ने जिंदगी की मिसाल दी,
मुट्ठी में धूल ली और हवा में उछाल दी।

इतनी बदसलूकी ना कर, ऐ जिंदगी
हम कौन सा यहाँ बार बार आने वाले हैं।

प्यार तब तक रहता है जब तक की वजूद और मौजूद की बात हो-नहीं तो जरुरी और मज़बूरी रस्ते ही बदल देते है

Na Jane Zindagi Main Kitne Gam Aate Hain,
Aankho Main Aansu Bhar Aate Hain,
Ye Aansu Sookh Bhi Nahi Pate,
Ki Doosre Gam Aankho Ko Gila Kar Jate Hain.

Zindgi Sirf Mohabbat Nahi Kuchh Aur Bhi Hai,
Zulf-o-Rukhsaar Ki Jannat Nahi Kuchh Aur Bhi Hai,
Bhookh Aur Pyaas Ki Maari Huyi Iss Duniya Mein,
Ishq Hi Ek Hakiqat Nahi Kuchh Aur Bhi Hai.
ज़िन्दगी सिर्फ मोहब्बत नहीं कुछ और भी है,
ज़ुल्फ़-ओ-रुखसार की जन्नत नहीं कुछ और भी है,
भूख और प्यास की मारी हुई इस दुनिया में,
इश्क ही इक हकीकत नहीं कुछ और भी है।

two line shayari on zindagi


यूँ ही खत्म हो जायेगा जा़म की तरह
जिन्दगी का सफ़र,
कड़वा ही सही एक बार तो
नशे में होकर इसे पिया जाये।

वही करता और वही करवाता है ,
क्यू बंदे तू इतराता है ।
इक साँस भी नही है तेरे बस की ,
वही सुलाता और जगाता है
डूबा हुआ हूँ ना निकल पाऊँगा मैं कभी,
ख़ूबसूरत मुस्कुराहट और आँखों से तेरी.

Tamana hai meri ki aapki aarzu ban jau,
Aapki aankh ka tara na sahi aapki aankh ka aansu ban jau,
Mai aap ki zindagi ki khushi banu ya na ban saku,
Aapke gum me aapka sahara ban jau.

खुशी में भी आँखें आँसू बहाती रही,
ज़रा सी बात देर तक रूलाती रही,
कोई खो के मिल गया तो कोई मिल के खो गया,
ज़िंदगी हम को बस ऐसे ही आज़माती रही।

एक और ईंट गिर गई दीवार ए जिंदगी से
नादान कह रहे हैं नया साल मुबारक हो

Hai Ajeeb Shahar Ki Zindgi
Na Safar Raha Na Qayam Hai,
Kahi Karobaar Si Dophar
Kahi Bad-Mijaz Si Shaam Hai.
है अजीब शहर की ज़िंदगी
न सफर रहा न क़याम है
कहीं कारोबार सी दोपहर
कहीं बदमिजाज़ सी शाम है।

Wo mujhse aksar ye sawal puchti hai,
“Tum mujhe itna pyar kyon karte ho?
Koi jakar bata de usko ki,
Zindagi kisko pyari nhi hoti.

आराम से तनहा कट रही थी तो अच्छी थी,
जिंदगी तू कहाँ दिल की बातों में आ गयी ।

ज़िन्दगी बीत जाती है अपनों को अपना बनाने में

Tere gam ko apni rooh me utaar lun,
Zindagi teri chahat Mai sawaar lun,
Mulakat ho tum se kuch is tarah ki,
Tamam umar bas ek mulakat main gujar du.

Yehan Sab Kuchh Bikta Hai Dosto
Rehna Jara Sambhal Ke,
Bechne Wale Hawaa Bhi Bech Dete Hain
Gubbaron Mein Daal Ke.
यहाँ सब कुछ बिकता है दोस्तों
रहना जरा संभाल के,
बेचने वाले हवा भी बेच देते है
गुब्बारों में डाल के।

वही करता और वही करवाता है ,
क्यू बंदे तू इतराता है ।
इक साँस भी नही है तेरे बस की ,
वही सुलाता और जगाता है
डूबा हुआ हूँ ना निकल पाऊँगा मैं कभी,
ख़ूबसूरत मुस्कुराहट और आँखों से तेरी.

good zindagi shayari


समंदर बड़ा होकर भी अपनी हदों में रहता है
इन्सान छोटा होकर भी औकात भूल जाता है

Sach Bikta Hai Jhoothh Bikta Hai
Bikti Hai Har Kahani,
Teeno Lok Mein Faila Hai Phir Bhi
Bikta Hai Botal Mein Paani.
सच बिकता है झूठ बिकता है
बिकती है हर कहानी,
तीनों लोक में फैला है फिर भी
बिकता है बोतल में पानी।

रखा करो नजदीकियॉ…..
जिन्दगी का कुछ भरोसा नही….
फिर मत कहना….
चले भी गऐ और बताया भी नही….!

Wo saath tha hamare,
Ya hum paas the uske?
Wo zindagi ke kuch din,
Ya zindagi thi kuch din?

ना जाने कब तुम आ कर
हमारे दिल मे बसने लगे,
तुम पहले दोस्त थे,
फिर प्यार,
फिर ना जाने कब ज़िंदगी बन गये…!

Daudti Bhagti Zindgi Ka
Yehi Tohfa Hai,
Khub Lutaate Rahe Apnapan
Phir Bhi Loag Khafa Hain.
दौड़ती भागती जिंदगी का
यही तोहफ़ा है,
खूब लुटाते रहे अपनापन
फिर भी लोग खफा हैं।

shayari dard bhari zindagi hindi


Dekha Hai Zindagi Ko Kuchh Itna Kareeb Se,
Chehre Tamaam Lagne Lage Hain Ab Toh Ajeeb Se.
देखा है ज़िन्दगी को कुछ इतना करीब से,
चेहरे तमाम लगने लगे हैं अब तो अजीब से।

फूलों की शुरुआत कली से होती है;
जिंदगी की शुरुआत प्यार से होती है;
प्यार की शुरुआत अपनों से होती है;
और अपनों की शुरुआत आप से होती है!

Aye Zindagi, Todkar Humko Aise Bikhero Iss Baar,
Na Phir Se Toot Payein Hum, Aur Na Phir Se Jud Pao Tum
ऐ ज़िन्दगी, तोड़ कर हमको ऐसे बिखेरो इस बार,
न फिर से टूट पायें हम, और न फिर से जुड़ पाओ तुम।

Tu Shaq Na Kar Mere Jazbaton Pe,
Tere Saath Hi Zindagi Meri Khubsurat Hai,
Jitni Ehmiyat Hai Pani Ki Marte Insan Ke Liye,
Bus Utni Hi Mujhe Teri Zarurat Hai….!!

Kitna Mushkil Hai Zindagi Ka Yeh Safar,
Khuda Ne Marna Haraam Kiya, Logon Ne Jeena.
कितना मुश्किल है ज़िन्दगी का ये सफ़र,
खुदा ने मरना हराम किया, लोगों ने जीना।

ज़िंदगी नहीं रुकती किसी के बगैर..
बस उस शख्स की जगह हमेशा खाली रह जाती है

Jeene Ke Liye Socha Hi Nahi Dard Sambhalne Honge,
Muskuraye Toh, Muskurane Ke Karz Utaarne Honge.
जीने के लिये सोचा ही नहीं, दर्द संभालने होंगे,
मुस्कुराये तो, मुस्कुराने के क़र्ज़ उतरने होंगे।

Zindagi Hans Ke Basar Karna,
Nafrato Ke Raste Par Na Safar Karna,
Wafa Na Ho To Mohabbat Adhoori Hai,
Mohabbat Ke Safar Me Wafa Ki Fikar Karna,
Mohabbat Har Kisi Ka Muqaddar Nahi Hoti,
Mile Jo Mohabbat To Iski Kadar Karna.

Chhod Yeh Baat Ke Mile Zakhm Kahan Se Mujhko,
Zindagi Itna Bata Kitna Safar Baaki Hai.
छोड़ ये बात कि मिले ज़ख़्म कहाँ से मुझको,
ज़िन्दगी इतना बता कितना सफर बाकी है।

zindagi ki shayari


Zindgi Se Puchhiye Yeh Kya Chahti Hai,
Bas Ek Aapki Wafa Chahti Hai,
Kitni Masoom Aur Nadaan Hai Yeh,
Khud Bewafa Hai Aur Wafa Chahti Hai.
ज़िन्दगी से पूछिये ये क्या चाहती है,
बस एक आपकी वफ़ा चाहती है,
कितनी मासूम और नादान है ये,
खुद बेवफा है और वफ़ा चाहती है।

Sajj Sakti Hai Mehfil-e-Zindagi,
Abhi Kuch Lamhe BaQi Hain,
Agar Chaho,
Agar Samjho,
Meri Mano,
To Loat Aao…!
Miss You

Khushi Mein Bhi Aankhein Aansu Bahati Rahi,
Jara Si Baat Der Tak Rulaati Rahi,
Koi Kho Ke Mil Gaya Toh Koi Mil Ki Kho Gaya,
Zindgi Humko Bas Aise Hi Aazmaati Rahi.
खुशी में भी आँखें आँसू बहाती रही,
जरा सी बात देर तक रुलाती रही,
कोई खो के मिल गया तो कोई मिल के खो गया,
ज़िंदगी हम को बस ऐसे ही आज़माती रही।

Ajeeb Bhi Tu Hai Nasib Bhi Tu Hai,
Duniya Ki Bhid Mai Karib Bhi Tu Hai,
Teri Duao Se Hi Chalti Hai Zindagi,
Kyuki Rabb Bhi Tu Hai Taqdir Bhi Tu Hai.

Wohi Ranjishein,
Wohi Hasratein,
Na Hi Dard-E-Dil Mai Kami Hui…
Hai Ajeeb Si Meri Zindagi,
Na Guzar Saki Na Khatam Hui…..!

डरते है आग से कही जल न जाये
डरते है ख्वाब से कहीं टूट न जाये
लेकिन सबसे ज़्यादा डरते है आपसे
कहीं आप हमें भूल न जाये।

Roj Dil Mein Hasraton Ko Jalta Dekh Kar,
Thak Chuka Hun Zindagi Ka Ye Ravaiya Dekh Kar.
रोज़ दिल में हसरतों को जलता देख कर,
थक चुका हूँ ज़िंदगी का ये रवैया देख कर।

Tamana hai meri ki aapki aarzu ban jaun,
Aapki aankh ka tara na sahi aapki aankh ka aansu ban jaun,
Mai aap ki zindagi ki kushi banu ya na ban sakun,
Aapke gum mai aapka sahara ban jau.

Kal Na Hum Honge Na Koi Gila Hoga,
Sirf Simti Hui Yaadon Ka Silsila Hoga,
Jo Lamhe Hain Chalo Haskar Bita Le,
Jaane Kal Zindgi Ka Kya Faisla Hoga.
कल न हम होंगे न कोई गिला होगा,
सिर्फ सिमटी हुयी यादों का सिलसिला होगा,
जो लम्हे हैं चलो हँसकर बिता दें,
जाने कल जिंदगी का क्या फैसला होगा।

Tere har gham ko apni rooh mein utar loon,
Apni zindagi teri chahat mein sanwar loon,
Mulaqat ho tujhse kuch is tarah meri,
Saari umar bas ek mulaqat mein guzar loon.

Na Chorhna Mera Saath Zindagi Mein Kabhi,
Shahyad Mein Zinda Hun Tere Saath ki Wajah Se.

sher o shayari on zindagi


Naa Cherr Qissa Wo Ulfat Ka,
Badi Lambi Kahani Hai…!!
Main Zindagi Se Nahi Haari,
Kisi Apne Ki Meherbani Hai…!!

उनके साथ जीने का एक मौका दे दे ऐ खुदा
तेरे साथ तो हम मरने के बाद भी रह लेंगे

Mujh Se Naaraaj Hai Toh Chhod De Tanha Mujhko,
Aye Zindagi Mujhe Roz Roz Tamasha Na Banaya Kar.
मुझ से नाराज़ है तो छोड़ दे तन्हा मुझको,
ऐ ज़िन्दगी मुझे रोज़ रोज़ तमाशा न बनाया कर।

Tere pyar mein do pal ki zindagi bahut hai,
Ek pal ki hansi or ek pal ki khushi bahut hai,
Yeh duniya mujhe jane, ya na jaane,
Teri aankhe mujhe pehchane yhi bahut hai.

Jahan Jahan Koi Thhokar Hai Meri Kismat Mein,
Wahin Wahin Liye Firti Hai Meri Zindagi Mujhko.
जहाँ जहाँ कोई ठोकर है मेरी किस्मत में,
वहीं वहीं लिए फिरती है मेरी ज़िन्दगी मुझको।

ये सोच कर अपनी हर हँसी बाट दी मेने
कि किसी ख़ुशी पर मेरा भी नाम हो जाए:
मुख़्तसर सा सफर है मेरा कोन जाने कब
मेरे इस सफर की आखरी शाम हो जाए

ShatRanj Khel Rahi Hai Meri Zindagi Kuchh Iss Tarah,
Kabhi Teri Mohabbat Maat Deti Hai Kabhi Meri Kismat.
‪‎शतरंज‬ खेल रही है मेरी ‪जिंदगी‬ कुछ इस तरह,
कभी तेरी मोहब्बत मात देती है कभी मेरी ‪किस्मत‬।

Apni zindagi ka alag usool hai,
Pyar ki khatir to kante bhi qubool hai,
Hans ke chal du kaanch ke tukdo par,
Agar pyar kahe ye mere bichaye hue phool hain.

Jo Lamha Saath Hai Use Jee Bhar Ke Jee Lena,
Yeh Kambakht Zindagi Bharose Ke Kabil Nahi Hai.
जो लम्हा साथ है उसे जी भर के जी लेना,
ये कम्बख्त जिंदगी भरोसे के काबिल नहीं है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ShayariWayari © 2018 Frontier Theme